Me & You - 15

ऐ जिंदगी तेरे लम्हों का, इम्तेहा भरी साँसों का.. गुजर चुके हम कईयों से, कुछ का अभी बाकी है.. लम्हे कुछ प्यार भरे, और कभी तनहा से.. वक्त हमेशा कहता है, इंतजार अभी बाकी है.. कोई किसी से क्या कहे, ओर कोई क्या सुने.. बात जरा सी उलझन में, सुलझना अभी बाकी है.. अहसास लिपटा सीने में, भरम तेरे होने का.. देता है सदा कभी, के जीना अभी बाकी है..

No comments:

Post a Comment

Me & You - 69

What is freedom in love? Is it seeing that your man is not interested in what you are doing? Is he just letting you do anything? Are you ...